Sunday, July 21, 2024
Google search engine
HomeNEWSBOKAROबोकारो स्टील प्लांट के फायर विभाग में अटेंडेंट पद पर कार्यरत सतीश...

बोकारो स्टील प्लांट के फायर विभाग में अटेंडेंट पद पर कार्यरत सतीश कुमार ने सूदखोरों से परेशान होकर दे दी जान ।

बोकारो : बोकारो स्टील प्लांट के फायर विभाग में अटेंडेंट पद पर कार्यरत 31 वर्षीय सतीश कुमार ने सूदखोरों से परेशान होकर फांसी लगाकर जान दे दी। घटना गुरुवार सुबह लगभग साढे आठ बजे की है। सतीश सेक्टर 8 B रोड के आवास संख्या 1540 में रहते थे। मृतक ने आत्महत्या से पूर्व एक सुसाइड नोट लिख छोड़ा था ।


ये भी पढ़ें ….दुंदी बाजार से घर में चोरी करने वाले 5 चोर चढ़े पुलिस के हथे | 6 मोबाइल व् सोने का लॉकेट किया बरामद |

जिसमें सूरज चौधरी व छोटल पाल को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है । सतीश ने सुसाइड नोट में अपने घरवालों से माफी मांगते हुए अपनी पीड़ा का उल्लेख किया है। घरवालों का कहना है कि सतीश कुमार लगभग साल भर से परेशान चल रहे थे। उन्हें इस बात का कोई अंदाजा नहीं था कि कर्ज के बोझ तले दबे सतीश इतना बड़ा कदम उठा लेगा।

फिलहाल घरवाले शव का अंतिम संस्कार करने के लिए गांव चले गए है।

वीडियो मे देखें….

सिटी डीएसपी ने कहा होगी कार्यवाई | 

सिटी डीएसपी कुलदीप कुमार ने बताया कि सतीश कुमार के द्वारा एक सुसाइड नोट पाया गया है इसके आधार पर उसके पिता स्वयंवर पासवान ने मामला दर्ज कराया है। मामले की जांच की जा रही है दो लोगों को इसमें नामजद किया गया है, जांच में अगर मामला सही पाया गया तो दोनों को जेल भेजने का भी काम किया जाएगा।

पिता ने दर्ज कराया थाने में मामला दर्ज 

बीजीएच में सेक्टर चार थाना पुलिस ने सतीश के पिता स्वयंवर पासवान का बयान दर्ज किया, जिसमें छोटन पाल व सूरज चौधरी को आरोपी बनाया गया है. आरोपियों के खिलाफ हरला थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी है. शव का पोस्टमार्टम कराकर उसे परिजनों को सौंप दिया गया है।

क्या लिखा है सुसाइड नोट में

“मैं सतीश कुमार अपने होश हवास में लिख रहा हूं कि सूरज चौधरी व छोटल पाल से 45 हजार रुपए नकद लिया था. इसके बदले में अपनी गाड़ी हीरो होंडा साइन व सोने के जेवर दिये थे. इसके बाद भी मुझसे छह लाख रुपये ब्याज के तौर पर जबरन मांगा जा रहा है. ये भी पढ़ें …..मणिपुर में हुए महिलाओं पर हिंसा मामले को लेकर JMM ने प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और भाजपा अध्यक्ष का पुतला दहन किया | एक ब्लॅक चेक भी ले लिया गया है. इस कारण मैं किसी प्रकार का लोन भी नहीं ले रहा पा रहा हूं. मैं अपने परिवार से माफी मांगता हूं. गलती की है, मुझे माफ कर देना।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments

You cannot copy content of this page